करियर काउंसलिंग और सफल करियर निर्माण-Career counselling importance

career counselling kyo karna chahiye





    

इस लेख में हम प्रकाश डालने वाले हैं सफल करियर  निर्माण और करियर काउंसलिंग के बारे में. यह ऐसे छात्रों और अभिभावकों के लिए अत्यंत उपयोगी होने वाला है जो दसवीं अथवा बारहवीं कक्षा के बाद अपने भविष्य को लेकर चिंतित और किंकर्तव्यविमूढ़(Confused) हैं.

क्या है करियर काउंसलिंग

भले ही इंटरनेट ने दुनिया को ग्लोबल विलेज बना दिया हो. आज भी बहुतायत में ऐसे लोग हैं, जिनके पास सूचनाओं की सही पहुंच नहीं है.  अगर सूचनाओं की पहुंच है भी तो सूचनाओं के भरमार वाले इसी युग में सही सूचनाओं का चयन करना  भी अपने आप में किसी चुनौती से काम नहीं है

दसवीं कक्षा के बाद विद्यार्थी और उनके अभिभावक सही विषय के  चयन को लेकर बहुत द्वंद में रहते हैं. क्या उनके लिए अच्छा है ? और क्या नहीं ?यह प्रश्न समय विशेष में उनके लिए किसी यक्ष प्रश्न से कम नहीं होता.

 ऐसे में  उन्हें ऐसे सही परामर्शदाताओं की अत्यंत आवश्यकता होती है जो उनकी समस्याओं को समझकर उनके स्वाभाव और  रूचि के अनुसार सफल करियर निर्माण के लिए सही विषय के चयन में उनकी मदद करें.

इसी उहापोह से छात्र और अभिभावकों को बाहर  लाने के लिए जिस परामर्श की आवश्यकता होती है उसे कहते हैं करियर काउंसलिंग.

क्यों लें करियर काउंसलिंग

करियर काउंसलर अपने ज्ञान अनुभव और जानकारी  से छात्रों की मदद करते हैं. करियर काउंसलर छात्रों को उनकी  रुचि और योग्यता का ख्याल रख कर सही स्ट्रीम के चयन में उनकी मदद करता है. करियर काउंसलर छात्र को यह बताता है कि उसे अपने भविष्य की संभावनाओं को ध्यान रखकर साइंस कॉमर्स या आर्ट्स में से किस विषय को चुन कर आगे की पढ़ाई के लिए करनी चाहिए.

इस तरह करियर काउंसलर सही स्ट्रीम का चयन करवाकर एक छात्र के उम्मीदों को नए उद्देश्य देता है. इस प्रकार वह देश को भी एक सफल प्रोफेशनल देने में मदद करता है . यही सफल प्रोफेशनल आगे चलकर एक गरिमामय जिंदगी जीते हुए देश को नई ऊंचाइयों तक ले जाते हैं.

नीचे हम करियर काउंसलिंग के कुछ अत्यंत महत्वपूर्ण लाभों के बारे में चर्चा कर रहें हैं .पूरी जानकारी के लिए पोस्ट को पूरा पढ़ें





 बेहतर भविष्य  का आधार

करियर काउंसलिंग करने के बाद छात्र को उसकी रुचि का विषय मिल जाता है. जिसमें वह पूरी तन्मयता से पढ़ाई कर सकता है.  जब वह अपनी रुचि के विषय को  पढ़ेगा तो पूरे आनंद और आत्मविश्वास से पढ़ेगा . इस प्रकार वह अपनी पढ़ाई में अपना 100% दे पाएगा, जिसके आधार पर जीवन में मनचाही सफलता और मनचाहा पद प्राप्त कर एक ऊर्जावान और शानदार जीवन जी पाएगा.

गलत चुनाव से बचाव

अक्सर हमारे देश में लोग अपने मामा दादा चाचा फुआ फूफा और पता नहीं किस-किस के कहने पर अपने करियर विकल्पों का चयन कर लेते हैं. जब वो बताये गए क्षेत्र में आगे बढ़ते हैं तो उन्हें पता चलता है कि यह तो उनकी रुचि का विषय नहीं है.

बाद में उस क्षेत्र में काम करना उन्हें भीतर से दुखी बना देता है. तो आगे चलकर कष्टमय जीवन जीने को बाध्य होतें हैं . इसलिए बेहतर है शुरू में ही थोड़े पैसे खर्च करके करियर काउंसलर की सलाह लेना और आगे एक जबर्दस्त जीवन जीना …

समय की मांग का ख्याल

आज के दौर में जहां  छात्रों के लिए हजारों हजार courses उपलब्ध है. वहां सही कोर्स का चयन कर उसकी पढ़ाई करना उसमें अपना शिक्षण-प्रशिक्षण  लेना, एक छात्र को आज की गला काट प्रतियोगिता के दौर में एक कदम आगे रखने में अहम भूमिका निभाता है.

 

जब आप किसी तकनीकी कोर्स को करने के लिए जाते हैं तो trend का ख्याल रखना बहुत आवश्यक हो जाता है. Trend का ख्याल रखकर ही आप एक सफल प्रोफेशनल के रूप में अपना करियर बना सकते हैं.सफलता के लिए समय के साथ चलना बहुत जरूरी है.

सकारात्मक सोच शानदार जीवन

जब किसी व्यक्ति को उसके जीवन में वह करने को मिलता है जो वह करना चाहता है, तो शिकायतों की जगह नहीं होती. काम काम नहीं लगता. काम करने में हर समय ऊर्जा बनी रहती है, मन लगा रहता है.

कार्य और कार्यस्थल की संतुष्टि अंततोगत्वा हमारे जीवन में भी रिफ्लेक्ट होता है . कार्य संतुष्टि से हमारे जीवन में भी संतुष्टि का भाव आता है और हम एक शानदार जीवन जी पाते हैं






समय हो तो इसे भी पढ़िए:-

  1. सफलता के लिए प्रेरणा को अपनी आदत बनाइये
  2. बहिर्मुखी व्यक्तित्व आपकी सफलता का सोपान

 

बिना मतलब के बहुत ज्यादा शब्दों को इस लेख में जोड़ना हमने उचित नहीं समझा.  क्योंकि आपका समय हमारे लिए भी महत्वपूर्ण है.

अगर करियर काउंसलिंग से संबंधित यह जानकारी आपको पसंद आई हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ विभिन्न सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर शेयर करने के साथ अपने सलाह और सुझाव से हमें कमेंट बॉक्स में लिखकर जरूर अवगत कराएं

 Thankyou

Related posts

Leave a Comment